उत्तर प्रदेश में बारिश के कारण कुछ जिलों में बाढ की आशंका

 
उत्तर प्रदेश में बारिश के कारण कुछ जिलों में बाढ की आशंका

उत्तर प्रदेश में बारिश के कारण कुछ जिलों में बाढ की आशंका

उत्तर प्रदेश में दो दिनो से लगातार बारिश की बूंदो ने अफरा तफरी मचा दी हैं जहा वारिश के पानी के लिए किसान परेशान थे वहीं अब ज्यादा पानी होने के कारण उनको परेशानी हो रही है।

किसानों के धान और गन्ने की फसल के लिए पानी बेहद जरूरी था जोकि बारिश से ही सम्भव था हालांकि किसान अपने तरफ से अपने फसलो की सिंचाई कर रहे थे।लेकिन प्राकृतिक अम्लीय वर्षा से फसलों को ज्यादा फायदा पहुंचता है जिसके कारण किसान चाह रहे थे कि वारिश हो लेकिन अब वारिश ने किसानों की फसलों पर कहर ढाना शुरू कर दिया है।

गन्ने और धान की फसलो में ज्यादा पानी और तेज हवा ने काफी समस्याएं पैदा कर दी अब फसले जमीन को छूने लगी है जिसके चलते किसानों का भारी नुक़सान हो सकता है। खेतों मे पानी इस कदर हो चुका है कि यह अनुमान लगाना मुश्किल हो चुका है कि किन का खेत कहां से है।

हो रही लगातार वारिश के कारण दशहरे की वो भीड भी न दिखाई दी जो गत वर्ष दिखी आपको बता दे कि माता रानी की मूर्ति विसर्जन में भी लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पडा हालांकि माता रानी के भक्तो में विसर्जन का जोश भरपूर दिखा।

मौसम विभाग के अनुसार यह बारिश अभी लगभग पांच दिनो तक चलने‌वाली है अतः आप सभी अपने खान पान के रखरखाव की उचित व्यवस्था कर लें। जिसके चलते आपको और आपके बच्चे को भोजन के लिए परेशान न होना पड़े।

लगातार हो रही वारिश के कारण उत्तर प्रदेश के नदियों घाघरा और सरयू का जलस्तर बढ़ता दिख रहा है।इस बारिश से किसानो को कडी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है।

बारिश ने खुले घूम रहे जानवरों के लिए भी एक बडी समस्या पैदा कर दी है क्योंकि ऐसे जानवरो का ठहरने की कोई व्यवस्था सरकार की तरफ से सही न होने के कारण अभी तक यह जानवर कही भी बैठ और सो जाते थे लेकिन अब सभी जगह भारी पानी भराव‌ के कारण ऐसे जानवर कहां रहेंगे।

Post a Comment

और नया पुराने